#Justju

Advertisements

तेरी कमी

​    ज़िंदगी है बहुत छोटी ये,

                      पर तमन्नाए है बड़ी मेरी |

    आज पास सबकुछ है मेरे,

                      पर फिर भी है कमी तेरी |


    लौट कर आ जा, ए जाने वाले,

             खाली पड़ी है ये दिल की ज़मी मेरी |

    आँसू बन कर बह जाती है,

                       यादो की नमी तेरी |

    पा लिए ग़म जितने पाने थे,

         अब तो ख़्वाहिश है सिर्फ तू ही मेरी |

प्यार

हँस्ते मुस्कुराते सारी ज़िंदगी गुज़ार दो,

आजा तुझे मैं इतना प्यार दूँ।

तेरे दिल की दुनिया मे मैं छा जाऊँ,

आजा तुझे मैं इतना प्यार दूँ।

इश्क को अपने हर हद से गुज़ार दूँ,

आजा तुझे मैं इतना प्यार दूँ।

ख्वाबो मे भी तेरे, आऊँ बस मैं,

आजा तुझे मैं इतना प्यार दूँ।

भूले न तू मुझको, न भूल पाऊँ तुझे मैं,

आजा तुझे मैं इतना प्यार दूँ।

मोहब्बत

मोहब्बत मे गुमनामी कैसी ?

ये इश्क की बदनामी कैसी ?

हमने तो सुना था इश्क में राज़ नही होते ।

फिर ये पसीने से लतपथ तुम्हारी पेशानी कैसी ?

जब तक तुम साथ हो मेरे,

मुझे इश्क मे परेशानी कैसी….?